RAD (Rapid Application Development) Model in hindi

आज हम software engineering का एक बहुत महत्वपूर्ण को RAD (Rapid Application Development) Model in hindiअच्छे से पढेंगे और इसके एक – एक पॉइंट को detailed से जानगे जैसे की RAD (Rapid Application Development) Model five phase हैं, When to use RAD Model in hindi  और Spiral Model कब  use करते हैं .advantage of RAD (Rapid Application Development) Model in hindi और disadvantage of RAD (Rapid Application Development) Model in hindi . इसे software development में कैसे  use  करते  हैं  . तो चलिये शुरू करते. hello दोस्तों Hindi me iT में आपका बहुत- बहुत अभिनान्दन हैं.

RAD (Rapid Application Development) Model in hindi

RAD (Rapid Application Development) Model  एक sequential software development process  model हैं जो की जो incremental या फिर  waterfall model model की तरह work करता हैं. RAD  model का use जादातर understand requirement जो होती हैं वहाँ किया जाता  हैं या फिर छोटे project बनाने में किया जाता हैं. अगर आपके पास requirement जो हैं वह आपको अच्छे से समझ में आ रही हैं और समय के साथ change नहीं हो रही हैं. तो इस model का use कर सकते हैं. और project को बड़ी आसानी से  टाइम पर develop कर सकते हैं.

RAD (Rapid Application Development) Model एक ऐसा process हैं जिसके द्वारा project fast develop किया जाता हैं और project की quality अच्छी होती हैं. इस model में बहुत कम error का सामना करना पड़ता हैं.

RAD (Rapid Application Development) Model का use करके  project को time पर develop करने में help करता हैं लेकिन project start करने से पहले आपके पास सभी requirement होनी चिहिये और requirement change नहीं होनी चहिये.

इस model के अंदर हम project के सभी  components,  code ,  tools, process का reuse आसानी से कर सकते हैं. तथा इसके अंदर हम automated code generate tool का नही use किया जाता हैं. 

 

RAD (Rapid Application Development) Model five phase हैं .

  • Business Modelling:
  • Data Modelling:
  • process modeling
  • application generation
  • testing and turnover

इनको भी पढ़े

RAD (Rapid Application Development) Model

1.Business Modelling:-

Business Modelling  के अंदर  Business model को तैयार करने के लिए अनेक business process के द्वारा  information के आधार पर  Business model तैयार किया जाता हैं.  जिसमें information शेयर करके कुछ business functions को defined किया जाता हैं.  किसी भी project का development process start करने से पहले उस project के सभी business functions को सही से analysis किया जाता हैं .

 

2. Data Modelling:-

Data Modelling के अंदर business modeling के द्वारा  इकट्ठा  किये गए data का data object को एक set में define किया जाता हैं. जो भी information  इकट्ठा की गयी हैं.  उस information से  business को समर्थन देने के लिए बहुत जरुरी होती हैं.

3:- process modeling:-

Data modeling  phase के अंदर जो data object information define किये गए थे . उस सभी  information transform  कर के businesses model के द्वारा business goals को complete किया जाता  हैं . इस phase के अंदर ही data object को जोड़ने , सही से analysis करने , data को delete या फिर से प्राप्त करने का complete process होता हैं.

4:- application generation:-

का मतलब तो नाम से ही पता चल रहा  हैं . की इसके अंदर किया होता हैं. इस phase के अंदर application या software project की coding की जाती हैं. business model के आधार पर. साथ ही automated code generate tool के मधियम से software या  application को बनाने के लिए coding की जाती हैं.

5:- testing and turnover:- 

 testing and turnover phase के अंदर बे सभी interfaces तथा components का टेस्ट होता हैं . कुछ programming  components का test पहले ही  कर लिया जाता हैं . साथ ही नए components तथा interfaces  का test  किया जाता हैं. क्योकि इसमें हर एक prototype का अलग – अलग test किये जाते हैं. जिसके के द्वारा  RAD (Rapid Application Development) Model में testing time कम हो जाता हैं .

 

When to use RAD Model in hindi

  • इस model का use तब किया जाना कहिये जब project को कम time में बनाने की जरूरत हो.
  • जब आपको सभी requirementsरे को अच्छे से analysis तथा पता हो .
  • इसका use तब किया जाना चहिये जब technical risk बहुत कम हो.
  • इस model का use तब करना चिहिये जब project को  2-3 महीने में develop करना जरुरी हो.

advantage of RAD (Rapid Application Development) Model in hindi:-

  • इस model का use करके project को flexible तरीके से आसानी से develop किया जाता हैं. तथा change भी आसानी से हो जाते हैं.
  • ये advantage RAD model बहुत खास हैं क्योकि इसमें हम  automated code generate बहुत आसानी से कर सकते हैं..
  • इस model  के मधियम से project में development में टाइम बहुत कम हो जाता हैं.
  • RAD model के अंदर changes  जो हैं स्वीकार्य किये जाते हैं.
  • इस model की सबसे खास बात ये हैं की इसमें components को बड़ी आसनी से reuse कर लिया जाता हैं.
  • RAD (Rapid Application Development) Model हर एक में costumer के लिए highest functionality provide करता हैं.
  • ये model project development के टाइम को काफी हद तक reduced कर देता हैं .
  • इस model में developing करते टाइम error बहुत का देखने को मिलते हैं क्योकि ये model prototype पर काम करता हैं.
  • ये model बहुत cost effective हैं.

disadvantage of  RAD (Rapid Application Development) model in hindi

RAD (Rapid Application Development) Model के disadvantage की बात करे तो इसके कुछ खास disadvantage नहीं हैं.

  • इस model में work को use करने के लिए highly required skilled designers की जरूरत होती हैं.
  • ये model सभी project के लिए suitable नहीं होती हैं .
  • ये model छोटे project के लिए  बेहतर नहीं  हैं.
  • इस model को manage करने के लिए highly required skilled की जरूरत होती हैं.
  • अगर आप इस model का use development के लिए कर रहे हैं तो आपको हर phase के बाद costumer से बात करने की जरूरत होती हैं तथा उसका feedback लेना भी जरुरी होता हैं.
  • इस phase में जो हम  automated code generate tool का use करते हैं costly होता हैं.
  • RAD model का use हम अच्छे से उस project के लिए कर सकते हैं  जो project component based होते हैं तथा salable system पर आधारित हैं. और जाने 

इनको भी पढ़े

आशा  करता हूँ  RAD (Rapid Application Development) Model in hindiअच्छे से समझा और इसके एक – एक पॉइंट को detailed से जाना  जैसे की RAD (Rapid Application Development) Model five phase हैं, When to use RAD Model in hindi  और Spiral Model कब  use करते हैं .advantage of RAD (Rapid Application Development) Model in hindi और disadvantage of RAD (Rapid Application Development) Model in hindi इसे software development में कैसे  use  करते  हैं  आपको   समझ में गया होगा . अगर आपको इससे related कोई question पूछना है तो आप comment करके पूछ सकते है . हम आपकी comment का जबाब जरुर देंगे . अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे comment करके जरुर बताये और आपका हमको कोई सुझाब हो तो उसे भी जरुर बताये . दोस्तों आपसे एक request है . आप इस जानकारी को आपने दोस्तों

Leave a Comment