Spiral model in software engineering in Hindi

आज हम software engineering का एक बहुत महत्वपूर्ण Spiral model in software engineering in Hindi  को अच्छे से पढेंगे और इसके एक – एक पॉइंट को detailed से जानगे जैसे की How to work spiral model in hindi , Advantage of Spiral Model in hondi , disadvantage of Spiral Model in hondi,  और Spiral Model जब use करते है | When use Spiral Model in hindi , spiral model risk kya – kay hote hain . इसे software development में कैसे  use  करते  हैं  . तो चलिये शुरू करते. hello दोस्तों Hindi me iT में

Spiral Model in hindi

spiral model prototyping पर ही work करता हैं तथा इसे iterative मॉडल भी कहते हैं.  spiral model के नियम को flow करके  जो भी software develop किया उस software में software के newक versions को implements  को तेजी से  develop करके rapid develop  करता हैं .  spiral model का use करके एक series में किसी software को develop करने की प्रक्रिया को बढाता हैं .  इस model starting में iterations के दोरान ही उसका  प्रोटोटाइप  बन सकता हैं. उसके बाद iterations  के दोरान ही इंजीनियर सिस्टम के द्वारा से प्रोटोटाइप तेयार किये जाते हैं.

Spiral model in software engineering in Hindi

Spiral Model जब use करते है | When use Spiral Model in hindi

  1. spiral model को जब use किया जाता हैं. जब कोई software large तथा complicated होता हैं.
  2. जब continue Risk की evolution कीजरूरत होती हैं.
  3. जब किसी भी user या costumer के requirement complicated हो उसमे use कर सकते हैं.
  4. इस model को सबसे ज्यादा use वहाँ होता हैं जहाँ requirement बार बार change हो रही हो. तथ software को develop करने के लिए टाइम काफी हो.
  5. इस model के अंदर waterfall model और prototyping model के बेस्ट future use किये जाते हैं.

इनको भी पढ़े

How to work Spiral model in hindi

spiral model  के चार phase होते हैं .

Planning Phase in hindi

spiral model में Planning phase के अंदर  requirement को इकट्ठा किया जाता हैं. जिसमें costumer या user की help लेनी होती हैं.

Risk analysis

ये  phase spiral model का  के बहुत महत्व पूर्ण phase होता हैं क्योकिं इस phase के अंदर ही किसी भी project के risk analysis किया जाता हैं . जब इस phase  में  रिस्क analysis की जाती है तो इसमें एक prototype तैयार किया जाता हैं.  अगर  रिस्क analysis में ही किसी भी problem पता चल जाता हैं. तो आगे इस problem  उस का iterative तैयार किया जाता हैं.

Engineering phase 

engineering phase में software की  development और testing होती हैं . जिसमे coding और testing की जाती हैं और software develop किया जाता हैं. जिसमे जो prototype तैयार किया हैं  उस  की प्रोटोटाइप की अनुसार ही software develop किया जाता हैं. 

Evaluation Phase

इस phase में costumer से Evaluated किया जाता हैं . जो  output आया हैं सही है या नहीं किसी update की जरूरत तो नहीं हैं. अगर update की जरूत हैं तो वह update वहीँ  किया जाता हैं next phase में जाने से पहले.  Evaluation phase जो हैं तब तक raptly use किया जायेगा तब तक सही result नहीं आ जाये.  जो स्टार्टिंग में प्लानिंग phase में requirement लाक कर करके analysis करके जो फर्स्ट spiral जो होता हैं . use base spiral model कहते हैं  

 

Advantage of Spiral Model in hondi

  • ये model most flexible model हैं क्योकिं इसमें project मेनेजर decide करता हैं इस project को इस development phase में रखना हैं इसके लिए मेनेजर requirement की complexity को समझना होगा.
  • इस model के अंदर एक phase केवल risk analysis करने के लिए ही हैं.
  •  spiral  model के अंदर risk बहुत कम हैं.
  • spiral model के अंदर बेस्ट technology का use किया हैं.

Disadvantage of Spiral Model in hondi

  • इस model का use smaller project के लिए नहीं करते हैं.
  • इस model में risk को analysis करने के लिए विशेष expert होना चहिये.
  • spiral model high costly होता हैं क्योकि इसमें special expert चहिये risk analysis के लिए.
  • ये model काफी complex हैं क्योकि इसमें बार – बार risk analysis करनी होती हैं.  read more

इनको भी पढ़े

आशा  करता हूँ  . piral model in software engineering in Hindi  को अच्छे से पढेंगे और इसके एक – एक पॉइंट को detailed से जानगे जैसे की How to work spiral model in hindi , Advantage of Spiral Model in hondi , disadvantage of Spiral Model in hondi,  और Spiral Model जब use करते है | When use Spiral Model in hindi , spiral model risk kya – kay hote hain . इसे software development में कैसे  use  करते  हैं  आपको   समझ में गया होगा . अगर आपको इससे related कोई question पूछना है तो आप comment करके पूछ सकते है . हम आपकी comment का जबाब जरुर देंगे . अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे comment करके जरुर बताये और आपका हमको कोई सुझाब हो तो उसे भी जरुर बताये . दोस्तों आपसे एक request है . आप इस जानकारी को आपने दोस्तों

Leave a Comment