What is Incremental Model in hindi | Incremental Model क्या हैं

आज हम software engineering के tutorial में एक बहुत महत्वपूर्ण topic What is Incremental Model in hindi , When to use in Incremental Model hindi, Characteristics  Incremental Module in Hindi और Advantage of Incremental Model in hindi, disadvantage of Incremental Model in hindi को अच्छे से जानेंगे . तो चलिये शुरू करते है . hello दोस्तों आपका Hindi me iT में बहुत – बहुत अभिनन्दन है .

What is Incremental Model in hindi

Definition of Incremental Model in hindi:- software develop करने का एक process हैं. जिसके अंदर software के development को अलग-अलग भाग में dived कर के development  किया जाता हैं. Incremental development में software को डिजाइन, implementation, testing,  coding अलग-अगल भागो में develop किया जाता हैं.

इस model के iteration requirements के अनुशार software के प्रत्येक भाग से गुजरती हैं testing,  coding डिजाइन, implementation.  इसमें  starting  phase में software को develop करने के लिए कुछ basic सुविधाओं को develop किया जाता हैं जिससे project को आसानी से develop किया जा सकें. उसेक बाद costumer से feedback लिया जाता हैं. उसके बाद दुसरे phase में कुछ model का develop करके उसे  project से जॉइंट कर दिया जाता हैं. ये प्रोसेसिंग तब  तक work करती हैं जब तक costumer की requirements के अनुसार project develop नहीं हो जाता हैं.

what is incremental model in hindi

When to use in Incremental Model hindi

इस model का use सबसे अधिक वहाँ किया जाता हैं जब costumer को आपनी requirement सही से पता न हो तथा समय के अनुसार change हो रही हो तब  Incremental Model का use project develop करने के लिए किया जाता हैं.  इस model का use अगर project development में करते हैं तो costumer के शिरू में ही project का एक Prototype मिल जाता हैं . जिससे costumer को अपनी requirement के अनुसार project develop करने में help मिलती हैं.

इस model का use करके अगर किसी project को जल्दी develop करना हो तो तो आपको आपनी सभी Requirements का पता पहले से होना चहिये.

इनको भी पढ़े –

1. Requirement analysis:

incremental model के first phase के अंदर हम project की requirements को analysis करके उसकी पहचान करते हैं की project को किन-किन basic requirements  की जरूरत हैं. तथा project की सभी working requirement  को टीम को समझया जाता हैं.  किसी भी project को incremental model के माध्यम से develop करने का first phase बहुत महत्वपूर्ण होता हैं . क्योकि इस phase में ही हम requirements तथा project की सभी basic जरूरत को analysis करते हैं.

2. Design & Development:

इस phase के अंदर हम  software development  life cycle  से incremental model project की functionality तथा project को develop करने की process को design किया जाता हैं.

.3. Testing:

इस phase के अंदर incremental model उन सभी function के test करने के साथ-साथ उन सभी function का  test किया जाता हैं जो additional functionality होते हैं. testing phase के अंदर उन सभी functionality  का test अनेक method किया जाता हैं.

4. Implementation:

Implementation phase के अंदर हम जब coding करते हैं या coding के develop करते हैं. इसमें हम आपनी coding, design  को नही सामिल करते हैं. तथा testing करते टाइम हम project की सभी functionality का test करते हैं. इस phase को complete करने के बाद हम project के सभी function को upgraded  करते हैं.

Characteristics  Incremental Module in Hindi

  • इस model में requirements  सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं . क्युकी इसमें हम project को  requirements  के अनुशार ही develop करते हैं.
  • incremental mode के द्वारा हम lengthy  project का develop बड़ी आसानी से कर सकते हैं.
  • इस model का use हम तब करते हैं जब हमारे पास अच्छे engineer नहीं होते हैं.
  • इस model का use करने का एक कारण ये भी की जब costume को project develop करने की बहुत जल्दी होती हैं.
  • जब हम इस model का use करके project development का work करते हैं तो project के सभी भागो को अलग-अलग छोटे-छोटे भागो में divide कर देते हैं जिससे project को कम time में develop करने में help मिलती हैं.
  • इस model के अंदर पहले phase में project के basic requirement को develop किया जाता हैं जो project को develop करने में help मिलती हैं.
  • इस model के अंदर project के जितने भी भागों में divide किया जाता हैं वह सभी स्वतंत्र होते हैं.

Advantage of Incremental Model in hindi

  • इस model का use अगर project development में करते हैं तो हमको  Errors को  पहचानना काफी easy जाता हैं.
  • testing तथा project की debug भी बहुत आसन हो जाता हैं.
  • incremental model बहुत  flexible होता हैं.
  • जब आपके पास expert software engineering  मोजूद नहीं होते हैं.
  • इस model के अंदर हम risk को आसानी से manage कर सकते हैं क्योकिं इसमें iteration बार-बार होता हैं.
  • costume को शिरू में ही project का एक Prototype मिल जाता हैं.
  • incremental model के अंदर first phase में project का basic requirements को develop करने में कम time तथा cost effective भी होता हैं.

Disadvantage of Incremental Model

  • इस model के use करने के लिए good planning की बहुत जरूरत होती हैं.
  • incremental model के मधियम से project को develop करने के लिए जो Total Cost वह बहुत होती हैं.
  • इस model में work करने के लिए अच्छी तरह से define module  interface की जरूरत होती हैं.
  • ये model starting में काफी easy इसमें हम  जैसे – जैसे requirement के अनुशार function को add करते जाते हैं इस model का architecture को समझने में समस्याएं आने लगती हैं . red more

इनको भी पढ़े –

आशा  करता हूँ आपको topic What is Incremental Model in hindi , When to use in Incremental Model hindi, Characteristics  Incremental Module in Hindi और Advantage of Incremental Model in hindi, disadvantage of Incremental Model in hindiसमझ में गया होगा . अगर आपको इससे related कोई question पूछना है तो आप comment करके पूछ सकते है . हम आपकी comment का जबाब जरुर देंगे . अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे comment करके जरुर बताये और आपका हमको कोई सुझाब हो तो उसे भी जरुर बताये . दोस्तों आपसे एक request है . आप इस जानकारी को आपने दोस्तों , रेस्तेदारो के साथ जरुर शेयर करे | धन्यबाद

Leave a Comment