What is Programming Language in Hindi|programming क्या हैं

इस आर्टिकल में  हम What is Programming Language in Hindi ? | programming क्या हैं के बारे में जानेंगे.  दोस्तों hindi me iT me आपका बहुत बहुत अभिनान्दन हैं.

What is Programming Language in Hindi?| programming क्या हैं?

प्रोग्रामिंग क्या हैं इसे एक example से समझते हैं.

हम इन्सान एक दुसरे से बात करने के लिए  एक language ( भाषा ) का use करते हैं. वह भाषा कोई भी हो सकती (हिंदी, इंग्लिश उर्दू, पंजाबी ) या कोई अन्य भाषा भी हो सकती हैं. उसी प्रकार computer या machine से बात करने के लिए एक language होती हैं. उसे programming language कहते हैं.

programming language (भाषा )  computer या machine की भाषा होती हैं. जिसका use करके एक programmers computer या machine के साथ communicate करने के rule या  instructions लिखता हैं.

What is Programming Language in Hindi

आज market में बहुत सारी programming language हैं उनके कुछ example निम्नलिखित हैं

types of programming language in hinid | programming language के प्रकार

computer programming basically तीन प्रकार की होती हैं.

  1.  Low-Level Programming Language
  2. middle-level programming language
  3. high-level programming language

What is Low-Level Language in Hindi? |Low-Level भाषा क्या है?

low-level language को machine की मूल भाषा हैं. ये भाषा भी programming होती हैं. ये programming language का use करके machine के instructions लिखते हैं.

low-level language basically machine code यानी बाइनरी code (0,1) के फोरम  में  होता हैं. जिसे हमारे लिये समझना मुस्किल होता हैं. लेकिन machine इसे अच्छे से समझ सकती हैं.

low-level language का execution काफी fast तेज होता हैं.

developer या प्रोग्रामर किसी IED का use करके high-level language में code लिखता हैं. जैसे :- java, python, php, javaScript और GO आदि. लेकिन machine इस code को नहीं समझती हैं. इस code को पहले low-level language यानी machine code में  convert किया जाता हैं.

low-level language ko humans को समझना काफी मुस्किल हैं. जबकि high-level language ह्यूमन के व्दारा लिखा गया code ही होता है. इसे समझना आसान होता हैं.

advantages of low-level language in Hindi | low level language features in Hindi

  • low-level language में लिखे code को कम मेमोरी की आवश्कता होती हैं.
  • low-level language में लिखे गए code को compiler या interpreter की कोई जरूरत नहीं होती हैं. क्योकिं इसे machine आसानी से समझ सकती हैं. लेकिन Assembly language में लिखे गए code को machine code में convert करने के लिए Assembler software की जरूरत होती हैं.
  • low-level language का use करके hardware के Drivers, Operating system, Database को develop करते हैं.

what is middle-level language in hindi |middle language क्या हैं?

middle-level language के एक computer या machine language हैं. जिसके के व्दारा machine या computer के instructions को symbols, letters, digits और special characters use करके के बनाये जाते हैं.

middle-level language low-level और high-level language के बीच में आता हैं. और language computer system कीअमूर्त (abstraction) लेयर के साथ इंटरैक्ट करती हैं. यह programming language machine के raw hardware और प्रोग्रामिंग के बीच सेतु की तरह कम करती हैं.

middle-level programming language किसी high-level language का output होती हैं. source code high-level language में लिखा जाता हैं. middle-level programming language को प्रोसेसर द्वारा executes करने से पहले code बेहतर बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया हैं.

computer का प्रोसेसर middle-level programming language को सीधा execute नहीं कर सकता हैं. इसे low-level programming language में convert किया जाता हैं. यांनी बाइनरी कोड में. computer प्रोसेसर बाइनरी code को ही समझता हैं.

Assembly language और C programming को middle-level language का एक example हैं.

advantages of middle-level language in Hindi | middle-level language features in Hindi

  • middle-level language में लिखे code को आधिक मेमोरी की आवश्कता होती हैं. low-level language के कम्पेरिजन में.
  • middle-level language में लिखे गए code को compiler या interpreter की कोई जरूरत होती हैं. क्योकिं इसे machine नहीं समझ सकती हैं.
  • middle-level language का use करके hardware के Drivers, Operating system, Database को develop करते हैं.

what is high-level programming language in hindi?|हाई लेवल लैंग्वेज क्या हैं?

हाई लेवल level programming language computer programming language होती हैं. इस language को बनाने का main मकसद computer programming को आसान बनाना हैं. हाई level language में की गयी programming को आसानी से समझा जा सकता हैं. क्योकिं इस language को human समझ सकता हैं.

high level programming में की गयी coding को computer या machine नहीं समझती हैं. क्योकिं computer हमेशा low-language को समझता हैं. यानी बाइनरी code को.

high-level में किया गया code को low-level में convert किया जाता हैं. high-level code को low-level में convert करने के लिए compiler या Interpreter की जरूरत होती हैं.

High-Level programming Language Examples | हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के उदाहरण

  • Python
  • Java
  • JavaScript
  • C#
  • C++
  • PHP
  • Ruby

ये सभी high लेवल programming language हैं. जिनका syntax अलग-अलग हैं. जिसे इन्सान आसानी से समझ सकता हैं.

features of high level programming language in Hindi| हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की विशेषता

  • high-level programming language का सबसे बड़ा feature. इसे इन्सान आसानी से समझ व् लिख सकता हैं. Low-level language की तुलना में.
  • High-level में की गयी programming को दूसरा प्रोग्रामर भी आसानी से समझ सकता हैं.
  • High-level programming language का use आज App Development, Data Science, Machine Learning, Artificial Intelligence आदि में बड़े level पर use किया जा रहा हैं.
  • High-level programming language का use करके बेहतर तरीके से GUI applications को develop किया जा सकता हैं.

disadvantage of high-level programming language in Hindi | high-level programming language की क्या – क्या नुकसान हैं.

  • high-level में किया गया code को सीधा execute नहीं कराया जा सकता हैं. इसे पहले low-level में convert करना पड़ता हैं. जिसकी बजह से ये programming language slow हो जाती हैं.
  • low-level में convert करने के लिए Compiler या Interpreter की आवश्यकता होती हैं.
  • इसे execute करने के लिए अधिक Memory space जरूरत होने के साथ-साथ computer के प्रोसेसर को अधिक काम करना पड़ता हैं.

By reference :- click

आशा  करता हूँ What is Programming Language in Hindi? | programming क्या हैं आपको पसंद आई होगी. अगर आपको इससे related कोई question पूछना हैं तो आप comment करके पूछ सकते है. अगर हमारे व्दारा की जानकर अच्छी लगी हो तो आपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें. धन्यबाद

Leave a Comment